परमाणु हथियारों पर हमला करना नामुमकिन -मुशर्रफ

PERVEJ MUSRAF

PERVEJ MUSRAF

वॉशिंगटन।। पाकिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति परवेज मुशर्रफ का कहना है कि अमेरिका के लिए पाकिस्तान के परमाणु हथियारों पर हमला करना नामुमकिन है।

मुशर्रफ ने सीएनएन पर एक इंटरव्यू में कहा, ‘अपने सैन्य अनुभव से मुझे नहीं लगता कि अमेरिका समेत किसी के लिए भी इन हथियारों पर आसानी से हमला कर पाना संभव है।’

उन्होंने कहा, ‘इन हथियारों को काफी मजबूत स्थिति में कई अलग-अलग जगहों पर रखा गया है और इनकी सुरक्षा भी की जाती है। इसलिए मुझे नहीं लगता कि यह ओसामा-बिन-लादेन पर हुई कार्रवाई जितना आसान होगा। इन्हें निशाना बनाना बहुत मुश्किल है और इन जगहों पर जाना संभव नहीं है।’

मुशर्रफ ने कहा, ‘जहां तक इनकी तैनाती और हटाने का सवाल है, पाकिस्तान ने कोई भी परमाणु हथियार तैनात नहीं किया है। मुझे लगता है कि भारत के साथ टकराव के हालात में भी हमने इन्हें तैनात नहीं किया था। मुझे नहीं लगता कि भारत ने भी इन्हें तैनात किया होगा।’

उन्होंने कहा, ‘हमारे पास युद्ध लड़ने की पारंपरिक शक्ति मौजूद है, इसलिए हमें अभी गैर पारंपरिक तरीकों के इस्तेमाल की जरूरत नहीं है। उन्होंने कहा कि इसी वजह से परमाणु हथियारों को तैनात करने की जरूरत नहीं है।’

पूर्व राष्ट्रपति  ने अफगानिस्तान के राष्ट्रपति हामिद करजई पर आरोप लगाया कि उन्होंने अपने सुरक्षाबलों को प्रशिक्षित करने के पाकिस्तान के प्रस्ताव को ठुकरा दिया था। उन्होंने कहा कि अमेरिका-पाकिस्तान युद्ध की सूरत में पाकिस्तान का साथ देने के करजई के हालिया बयान के बावजूद वह अभी भी करजई पर भरोसा नहीं करते हैं।